डिजिटल मार्केटिंग क्या होती है और कैसे काम करती है | What is Digital Marketing in Hindi (2020)

डिजिटल मार्केटिंग क्या होती है और कैसे काम करती है | What is Digital Marketing in Hindi (2020)

डिजिटल मार्केटिंग क्या होती है और कैसे करें  What is Digital Marketing in Hindi (2020)

आजकल की इंटरनेटिया दुनिया में Digital Marketing एक ऐसा extravagant शब्द है जिसका इस्तेमाल करके आप आसानी से ऑफिस में अपने associates पर impression जमा सकते हैं।

हममें से ज्यादातर लोगों के लिए 'डिजिटल मार्केटिंग' का यह शब्द ज्यादा पुराना नहीं है। ज्यादातर लोगों को computerized promoting के बारे में तब पता चला जब इंटरनेट उनकी ज़िंदगी का एक जरूरी हिस्सा बन गया।

यह शब्द साल 2000 के बाद ज्यादा well known होना शुरू हुआ। इंटरनेट में web index, web based life, applications आदि का विकास होने के बाद से यह शब्द लोगों के लिए आम बन गया।

आज बहुत सारे लोग हैं जो advanced advertising करके लाखों रुपए कमा रहे हैं। बिना किसी physical office के ही कई लोग सिर्फ अपने कंप्युटर से काम करके अच्छा-खासा पैसा कमा रहे है।

आप चाहें तो आप भी घर बैठे Digital Marketing करके winning कर सकते हैं, लेकिन इसके लिए यह जरूरी है कि पहले आप डिजिटल मार्केटिंग के बारे में अच्छी तरह से जान-समझ लें और उसे अच्छी तरह से सीखें।

इस आर्टिकल में हमने डिजिटल मार्केटिंग से संबंधित चीजों जैसे-डिजिटल मार्केटिंग क्या है, कैसे करें और इससे पैसे कैसे कमाएँ आदि के बारे में बात की है। इसलिए अगर आप भी Digital Marketing में intrigued हैं तो इस पोस्ट को बड़े ध्यान से पढ़ें।

डिजिटल मार्केटिंग क्या है पूरी जानकारी/Information about Digital Marketing in Hindi 


1). डिजिटल मार्केटिंग का मतलब (What does Digital Marketing mean): 

पिछले कुछ सालों में आपने notice किया होगा कि बहुत सारी कंपनियों ने Road के किनारे Hoarding लगाने कम कर दिए हैं।

कारण? 

कारण है-"डिजिटल मार्केटिंग का एक अच्छे, सस्ते और successful माध्यम के रूप में उभरना।"

जैसे कि नाम से ही पता चलता है कि डिजिटल मार्केटिंग का अर्थ है-

किसी चीज को Digital माध्यमों (या electronic gadgets) के द्वारा advance करना.

डिजिटल माध्यमों यानि फोन, कंप्युटर, टैबलेट, इंटरनेट, सोशल मीडिया के द्वारा किसी चीज का प्रचार करने को Digital Marketing कहा जाता है।

गौरतलब है कि TV और Radio Marketing डिजिटल मार्केटिंग के अंतर्गत नहीं आती हैं वे customary promoting के अंतर्गत आती है। डिजिटल मार्केटिंग के अंतर्गत ज्यादातर इंटरनेट से related चीजें आती हैं।

उदाहरण के लिए आए दिन हमारे फोन पर कंपनी वालों के SMS आते रहते हैं और Youtube पर promotions आते रहते हैं। ये सभी चीजें computerized showcasing का ही एक हिस्सा हैं।

* डिजिटल मार्केटर कौन होता है?

डिजिटल मार्केटर उस व्यक्ति को बोलते हैं जो चीजों को carefully advance करने में माहिर होता है। जिसे पता होता है कि कैसे किसी वेबसाइट को गूगल में अच्छी position पर रैंक करवाना है और कैसे किसी साइट पर traffic लाना है।

2). डिजिटल मार्केटिंग के उदाहरण (Digital Marketing Examples):


हम अक्सर advanced advertising के बहुत सारे उदाहरणों को अपनी रोजमर्रा की ज़िंदगी में देखते हैं। जिनमें से कुछ हैं-

फोन पर कंपनी वालों के limited time messages आना।

सोशल मीडिया जैसे facebook, instagram पर advertisements आना।

यूट्यूब पर advertisements आना।

किसी वेबसाइट या ब्लॉग को विज़िट करने पर advertisements दिखना।

गूगल में कुछ सर्च करने पर सबसे ऊपर advertisements दिखना।

यूट्यूब विडिओ में item और administrations का paid advancement करना।

कंपनियों के messages आना।

3). डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार/हिस्से (Types of Digital Marketing):


डिजिटल मार्केटिंग कोई एक चीज नहीं है बल्कि यह बहुत सारी अलग-अलग चीजों का mix है। इनमें से हर चीज के बारे में लिखना तो conceivable नहीं है लेकिन ये कुछ चीजें हैं जिनके बिना advanced promoting अधूरी है।

डिजिटल मार्केटिंग दो तरह की हो सकती हैं-ऑनलाइन डिजिटल मार्केटिंग और ऑफलाइन डिजिटल मार्केटिंग।

1. ऑनलाइन डिजिटल मार्केटिंग (Online Digital Marketing)-


इस computerized showcasing में इंटरनेट का उपयोग किया जाता है। इसे Internet Marketing भी कहा जाता है।

ऑनलाइन डिजिटल मार्केटिंग के अंतर्गत ये चीजें आती हैं-

कंटेन्ट मार्केटिंग (Content Marketing)- लोगों को quality substance give कराकर उनका भरोसा जीतकर की जाने वाली मार्केटिंग को Content Marketing कहा जाता है।

Peruse More-कंटेन्ट मार्केटिंग क्या है? पूरी जानकारी

सर्च इंजन ऑपटिमाइज़ेशन (SEO)- बिना commercial के गूगल में सबसे पहले रैंक करने के लिए जिन strategies का उपयोग किया जाता है उन्हें एक-साथ मिलाकर एसईओ कहा जाता है।

Peruse More-SEO क्या है और अपनी वेबसाइट का SEO कैसे करें?

सर्च इंजन मार्केटिंग (SEM)- एसईओ की ही तरह एसईएम का प्रयोग भी सर्च इंजनों में अच्छी रैंकिंग पाने के लिए किया जाता है। फर्क बस इतना है कि SEM में पैसे खर्च करने पड़ते हैं जबकि SEO बिना किसी खर्च के किया जाता है।

ब्लॉगिंग (Blogging)- ब्लॉग पर कंटेन्ट लिखकर मर्केटिंग करने के तरीके को blogging कहते हैं।

विडिओ मार्केटिंग (Video Marketing)- वीडियो के द्वारा किसी चीज की मार्केटिंग करने को video promoting कहा जाता है।

सोशल मीडिया मार्केटिंग (SMM)- एसएमएम डिजिटल मार्केटिंग की एक ऐसी procedure है जिसमें online networking का यूज किया जाता है।

पे पर क्लिक मार्केटिंग (PPC Marketing)- यह एक Ad Marketing Model है जिसमें कंपनी per click के हिसाब से distributer को pay करती है।

अफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing)- आजकल मार्केटिंग के सबसे बेहतरीन तरीकों में से एक तरीका है-Affiliate Marketing. इसमें कंपनियां Sales के हिसाब से लोगों (Affiliates) को pay करती है। यानि अगर कोई व्यक्ति कंपनी का कोई item या administration बिकवा देता है तो कंपनी उसे कुछ % commission देती है।

ईमेल मार्केटिंग (Email Marketing)- ईमेल gather करके लोगों को मेल भेजकर मार्केटिंग करने के तरीके को Email Marketing कहते हैं।

इन्स्टेन्ट मेसेजिंग मार्केटिंग (Instant Messaging Marketing)- मार्केटिंग का यह तरीका काफी नया है। इसमें लोग अपने messanger applications जैसे-फ़ेसबुक मेसेन्जर पर किसी वेबसाइट को buy in कर सकते हैं। इसे आप MobileMonkey और ManyChat जैसे टूल्स के द्वारा कर सकते हैं।

2. ऑफलाइन डिजिटल मार्केटिंग (Offline Digital Marketing)-


इंटरनेट के अलावा डिजिटल मार्केटिंग कई ऑफलाइन तरीकों से भी की जा सकती है-

फोन मैसेज (SMS)- आपके फोन नंबर पर भी कई बार तरह-तरह के limited time SMS आते होंगे। ये भी एक तरह की advanced promoting strategy (disconnected) है।

फोन कॉल (Phone Call)- कई बार कंपनियां लोगों को फोन करके भी promoting करती हैं इसे Phone Call Marketing कहते हैं।

इलेक्ट्रॉनिक बिलबोर्ड (E-Billboards)- आजकल बहुत सारी कंपनियां electronic hoardings लगाकर प्रचार करती हैं। यह भी एक तरह की computerized advertising है।

रेडियो विपणन (Radio Marketing)- रेडियो से की जाने वाली मर्केटिंग disconnected computerized advertising के अंतर्गत आती है। हालांकि कई लोग इसे advanced showcasing नहीं मानते हैं वे इसे conventional promoting में गिनते हैं।

टेलीविजन मार्केटिंग (TV Marketing)- यह टीवी के माध्यम से की जाने वाली मार्केटिंग है। हालांकि इसे भी कई सारे लोग computerized advertising नहीं मानते हैं।

4). डिजिटल मार्केटिंग क्यों जरूरी है (Why to utilize Digital Marketing and it's Importance):


आज के जमाने में चाहें आप किसी भी तरह का business कर रहे हों; डिजिटल मार्केटिंग आपके बिजनेस को आगे ले जाने के लिए एक जरूरी कदम है।

डिजिटल मार्केटिंग, Marketing के conventional तरीकों की तुलना में कम खर्चीली और आसान है। एक ओर जहाँ मार्केटिंग के पुराने तरीकों में हमारा इस पर कोई control नहीं होता है हमारा advertisement कौन देख रहा है वहीं दूसरी ओर डिजिटल मार्केटिंग के द्वारा हम बहुत ही barely focused on crowd तक पहुँच बना सकते हैं।

मार्केटिंग के ट्रेडिशनल तरीकों (जैसे-TV, Radio) में हमें काफी मजबूत spending plan की जरूरत होती है जो कि अक्सर लाखों में होता है। जबकि advanced showcasing के केस में ऐसा नहीं है। हम डिजिटल मार्केटिंग को कुछ सौ रुपए से भी शुरू कर सकते हैं।

आजकल हर कोई Online घूमता रहता है इसलिए हमारे business की development के लिए यह जरूरी है कि हम advanced showcasing को थोड़ा ही सही लेकिन शुरू करें।

डिजिटल मार्केटिंग के फायदे (Digital Marketing Benefits)


ऐसे बहुत सारे लाभ हैं जो advanced showcasing से आपको हो सकते हैं। पेश हैं डिजिटल मार्केटिंग के सही इस्तेमाल से होने वाले फायदे-

डिजिटल मार्केटिंग बहुत कम पैसों में की जा सकती है। डिजिटल मार्केटिंग को आप 50 या 100 रुपए से भी करना शुरू कर सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग से हम सिर्फ और सिर्फ उन्ही लोगों तक अपने Ads को पहुंचा सकते हैं जिन्हें हमारे items या फिर administrations की सच में जरूरत है। जबकि conventional showcasing में ऐसा संभव नहीं है।

डिजिटल मार्केटिंग करने में आसान है। साथ ही साथ हम आसानी से अपने advanced advertising effort में जरूरी बदलाव कर सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग में प्राय: Conversion Rate अच्छा होता है। यानि लोग जल्दी से ग्राहक बन जाते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग, मार्केटिंग का भविष्य है।


 अगर आप Tech, Internet, Blogging, SEO और डिजिटल मार्केटिंग जैसी चीजों से खुद को लगातार update रखना चाहते हैं तो हमारा onlinesahaita.xyz/ जरूर सबस्क्राइब करें..





5). डिजिटल मार्केटिंग से संबंधित कुछ प्रमुख शब्द (Hot Terms Of Digital Marketing): 

डिजिटल मार्केटिंग से जुड़े कुछ ऐसे शब्द हैं जो कई सारे लोगों को confound करते हैं और डिजिटल मार्केटिंग में आए नए लोगों को इन शब्दों से जरूर वाकिफ होना चाहिए। पेश हैं ऐसे ही कुछ Hot Digital Marketing Terms-

PPC (Pay Per Click)- एक Ad पर क्लिक होने पर कंपनी को जितना भुगतान पब्लिशर को करना पड़ता है उसे Pay Per Click कहा जाता है। Publisher की side से इसे Cost Per Click (CPC) कहा जाता है।

return for capital invested (Return On Investment)- जितना पैसा मार्केटिंग पे खर्च किया जाता है उसकी तुलना में जितना फायदा organization को income में होता है उसे आरओआई कहते हैं। जैसे कि अगर आपने मार्केटिंग पर 1000 रुपए खर्च करते हैं और इससे आपको 2000 रुपए का फायदा होता है तो आपका ROI 100% हो जाता है।

CTR (Click Through Rate)- टोटल देखने वाले लोगों में से जितने % लोग किसी चीज पर क्लिक करते हैं उसे उसका सीटीआर कहते हैं।

Website design enhancement (Search Engine Optimization)- सर्च इंजनों में वेबसाइट को अच्छी position पर रैंक करने की तकनीकों को एसईओ कहते हैं।

Sponsorship-स्पॉन्सरशिप यानि किसी influencer को पैसे देकर अपनी showcasing करवाना। मसलन, आप किसी बड़े blogger या फिर Youtuber को पैसे देकर अपने business की advertising करवा सकते हैं।

Skip Rate-आपकी वेबसाइट पर आने वाले लोगों का वह percent जो सिर्फ एक पेज पढ़ने के बाद आपकी वेबसाइट से बाहर चले जाते हैं 'बाउंस रेट' कहलाता है�






Catchphrase टॉपिक को इंटरनेट की भाषा में कीवर्ड कहा जाता है। 

Peruse More-कीवर्ड क्या होता है? पूरी जानकारी 

Misleading content लोगों से अपनी वेबसाइट पर क्लिक करवाने के लिए गलत तरीकों का use करने को क्लिकबेट कहते हैं।

Greeting page जब आप डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से लोगों को अपनी वेबसाइट पर भेजते हैं तो आपके लिंक पर क्लिक करने के बाद आपकी वेबसाइट का जो पेज सबसे पहले खुलता है और लोगों को show होता है उसे वेबसाइट का लैन्डिंग पेज (Landing Page) बोलते हैं। लैन्डिंग पेज यानि जिस पेज पर लोग land करते हैं यानि उतरते हैं।

लैन्डिंग पेज एक तरह से आपकी वेबसाइट का early introduction होता है, इसलिए अपने computerized showcasing effort इसे सफल बनाने के लिए इसे अच्छी तरह से जरूर improve किया जाना चाहिए।

Content- सरल शब्दों में, जिस चीज से लोगों को जानकारी मिलती है उसे Content कहते हैं।

Backlink- जब किसी वेबसाइट से हमारी साइट को link मिलता है तो उसे बैकलिंक बोलते हैं।

Domain Authority (DA)- किसी वेबसाइट की गूगल की नज़रों में कितनी इज्जत है यह हमें D.A से पता चलता है।

Alexa Rank- अलेक्सा रैंक बताती है कोई साइट popularity के मामले में दुनिया के कौन-से नंबर की साइट है।



6). डिजिटल मार्केटिंग कैसे करें? (The most effective method to do Digital Marketing Step by Step):

डिजिटल मार्केटिंग करना आपके कारोबार के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद साबित हो सकता है बशर्तें कि इसे सही तरीके से किया जाए। ये कुछ steps हैं जिन्हें आप अपने computerized advertising effort को सफल बनाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं-

1. अपने लक्ष्य निर्धारित करें (Define Your Goals)- 

किसी भी चीज की मार्केटिंग तब तक नहीं हो सकती है जब तक कि आप निश्चित ना हो कि मार्केटिंग करने का आपका उद्देश्य क्या है। इसलिए सबसे पहले यह choose करें कि आप advertising करना क्यों चाहते हैं, आपके objectives क्या है?

मान लीजिए कि अगर आप अपनी वेबसाइट की showcasing कर रहे हैं तो हो सकता है कि आप अपनी वेबसाइट पर traffic बढ़ाना चाहते हों। हो सकता है कि आप अपनी site पर किसी चीज को बेचना चाहते हों। हो सकता है कि आप अपनी वेबसाइट के बारे में लोगों को सिर्फ लोगों को बताना चाहते हों (brand mindfulness) या फिर हो सकता है कि आप आपका advertising करने का उद्देश्य अपनी email list बढ़ाना हो।

आपका objective चाहे जो भी हो मगर उसके प्रति निश्चित रहें।

2. अपनी टारगेट ऑडियंस को चुनें (Choose Your Target Audience)- 

एक बार जब आप अपना मार्केटिंग लक्ष्य निर्धारित कर लेते हैं तब बारी आती है-अपनी focused on crowd निश्चित करने की।

अपनी प्रोफ़ाइल और वेबसाइट को सही बनाएँ (Manage Your Social Profiles and Landing Page)-

अगर आप मार्केटिंग के द्वारा लोगों को अपने social pages पर भेजना चाहते हैं तो Ad लगाने से पहले अपने social records को सही से arrangement कर लें। उनमें सही certifications और joins डालें ताकि लोगों को कोई परेशानी न हो।

इसके अलावा अगर आप लोगों को अपनी वेबसाइट तक भेजना चाहते हैं तो अपने greeting page (वेबसाइट का वह पेज जो क्लिक करने के बाद लोगों को सबसे पहले दिखेगा) को सही से set करें। उसे alluring और आसान बनाएँ।

5. कीवर्ड रीसर्च करें (Do Keyword Research)- 

अगर आप Google में promotions लगाना चाहते हैं तो watchword research जरूर करें। यह पता लगाएँ कि लोग आपके बिजनेस के विषय से संबंधित किन-किन चीजों को ढूंढते हैं और किस तरह से ढूंढते हैं।

6. अपना बजट निर्धारित करें (Set Your Budget)- 

आप अपने बिजनेस को carefully advertise करने में कितना पैसा खर्च करना चाहते हैं यह ठीक से निर्धारित करें। साथ ही साथ इस बारे में भी निश्चित रहे कि आप अपना showcasing effort कितने दिन तक चलाना चाहते हैं।

Tip-अगर आप पहली बार advanced showcasing कर रहे हैं तो एक दम से बहुत सारा पैसा इसमें न लगाएँ। बेहतर होगा कि आप अपने spending plan को टुकड़ों में बांटें। जैसे कि-जनवरी के लिए 10%, फरवरी के लिए 8%, मार्च के लिए 12% and so forth इससे chance कम हो जाता है।

7. एड लगाएँ (Set Ads)-

सातवाँ और सबसे महत्वपूर्ण step है advertisement लगाना। अपने promotions को अच्छी तरह से modify करें। उन्हें alluring रखें। Copywriting पर विशेष ध्यान दें।

8. विश्लेषण करें (Track and Do Analysis)-

कई लोग बस promotion लगाकर छोड़ देते हैं और अच्छे नतीजे आने का hold up करते हैं। लेकिन ऐसा नहीं होता।

एड लगाने के बाद हमें अपने crusade को track भी करना होता है। उसके आधार पर यह विश्लेषण भी करना होता है कि क्या हम सही तरीके से काम कर रहे हैं। अगर नहीं तो कहाँ पर हमें बदलाव करने की जरूरत है। कहाँ पर चीजों को बेहतर बनाया जा सकता है।

इस तरह चीजों का विशेषण करने से हम अपने computerized promoting effort को बेहतर बना सकते हैं।

इन steps को सही से फॉलो करके आप अपने advanced showcasing effort को सफल बना सकते हैं।

7). डिजिटल मार्केटिंग तकनीकें (Digital Marketing Strategies/Techniques):

ये कुछ digial promoting procedures हैं जिन्हें आप अपने advanced showcasing effort को सफल बनाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं-

1. लोकल SEO-अगर आपका कोई ऑफ़लाइन बिजनेस है और आप उसे अपने इलाके या शहर के लोगों तक पहुंचाना चाहते हो तो Local SEO इस काम में आपकी मदद कर सकता है।

Peruse Local SEO क्या है और कैसे करें?

2. SEM-सर्च इंजन मार्केटिंग के द्वारा आप सर्च इंजनों जैसे गूगल , बिंग के माध्यम से लोगों को अपनी वेबसाइट तक ले जा सकते हो।

3. SMM- डिजिटल मार्केटिंग की 'सोशल मीडिया मार्केटिंग' technique के द्वारा आप social web का use करके लोगों को अपने product & services की तरह ले जा सकते हैं।


4. Remarketing- री-मार्केटिंग एक ऐसी technique है जिसके द्वारा आप उन लोगों को फिर से अपनी साइट पर ला सकते हैं जो कि एक बार आपकी साइट पर आ चुके हैं।


5. Content Marketing- कंटेन्ट मार्केटिंग के द्वारा हम free में बहुत सारे लोगों को अपनी साइट पर ला सकते हैं और साथ ही साथ अपनी brand awareness में भी इजाफा कर सकते हैं।

CURIOUSITY CORNER:


डिजिटल मार्केटिंग क्या होती है और कैसे करें? | What is Digital Marketing in Hindi (2020)
डिजिटल मार्केटिंग किसी भी electronic device के माध्यम से की गई मार्केटिंग है- जैसे- फोन, कंप्यूटर, टैबलेट, इंटरनेट, टीवी, इलेक्ट्रॉनिक बिलबोर्ड।

जबकि ऑनलाइन या इंटरनेट मार्केटिंग digital marketing का ही एक हिस्सा है जिसमें सिर्फ internet का इस्तेमाल करके marketing की जाती है।




2. कुछ पॉपुलर डिजिटल मार्केटिंग ब्लॉग्स (Digital Marketing Blogs):


  1. NeilPatel.Com
  2. Digital Vidya
  3. Lyfemarketing.com
  4. Ankur Agrawal
  5. Digital Marketing Institute
  6. Pritam Nagrale



ℹ️  AUTHORS' ANGLE: 

आज डिजिटल मार्केटिंग में करियर बनाने और पैसा कमाने की अपार संभावनाएँ हैं बशर्तें कि हममें internet के प्रति गहरा जुनून हो। डिजिटल मार्केटिंग के फील्ड में अच्छा करने के लिए हमारा इससे लगातार updated रहना जरूरी है।


तो दोस्तों यही था डिजिटल मार्केटिंग क्या होती है और कैसे करें? | What is Digital Marketing in Hindi (2020) पर हमारी आज की पोस्ट। यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें comment के माध्यम से जरूर बताएं और आपका कोई सवाल हो तो उसे भी जरूर पूछें। हमसे facebook पर जुड़ें ताकि आपको नई post की update मिलती रहे।




Previous
Next Post »